Wednesday, December 6, 2017

#myinspiration-- my nephew

बेवजह सी जिंदगी मैं कुछ इस तरह से जिए जा रही थी,
चाह तो बहुत थी पर कोई राह नहीं सुझाई दे रही थी,
अचानक वो एक फरिस्ता सा मेरी जिंदगी को रोशन सा कर गया,
कोई पूछे तो कौन था वो! क्या बताऊँ किसी को कौन वो अपना था,
उम्र भले ही पांच गुने उसकी कम थी,
मेरी राहों में दिए इस तरह जला वो गया था,
मेरा अपना वो मुझे एक नयी राह जीने की दिखा गया था,
दूसरों की जी हुज़ूरी में जिंदगी मेरी जो कट रही थी,
कभी इसकी, कभी उसकी सुनते जिंदगी कट रही थी,
न कोई मतलब, न कोई मकसद बस जिंदगी यूँ ही जिए जा रही थी,
कुछ खुद के लिए भी करूँ उस राह को दिखा वो गया था,
अपनी पहचान खुद बनाऊँ ये जज़्बा जगा गया वो था,
मुझे आसमान की तरफ देखने का हक दिला वो गया था,
हाँ वो छोटा सा मेरा बेटा सा मेरा भतीजा,
मेरी प्रेरणा बन मुझे जीना सीखा गया था ||

#Inspiration

2 comments: